फेकू बाबा का दरबार, जहां होती है हर मनोकामना पूर्ण - Silsila Zindagi Ka
  • Welcome To My Blog

    फेकू बाबा का दरबार, जहां होती है हर मनोकामना पूर्ण

    जिसके दरबार से निकलता हुआ जयकारा धरती-अम्बर में रोज़ गूंजायमान होता है. जहां का रोम-रोम, राम के नाम से सुसज्जित है. जहां श्रद्धा और भक्ति से सराबोर भक्तगण हर रोज़ आते हैं. जहां माँगी हुई हर मन्नत कुबूल हो जाती है. आईये आपको उसी पावन दरबार में लेकर चलते हैं, जिस दरबार का नाम है “फेकू बाबा” का दरबार.

    उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के भुआलछपरा गाँव में स्थित “फेकू बाबा” का यह पावन दरबार आज भी हजारों भक्तों के लिए श्रद्धा का केंद्र है. दूर-दूर से रोज़ यहाँ भक्तगण दर्शन के लिए आते हैं. मन्नतें मांगते हैं. और कहते हैं कि यहाँ जो भी मन्नत दिल से माँगी जाती है वो एक दिन ज़रूर पूरी होती है और बहुत लोगों की कई मन्नतें पूरी भी हो चुकी हैं.

    गंगा के तट पर स्थित फेकू बाबा का यह मंदिर दूर-दूर तक के क्षेत्रों में प्रसिद्ध है. एक सकारात्मक वातावरण, सुन्दर नज़ारे और अनोखी महिमा के लिए विख्यात इस मंदिर की सुन्दरता देखते ही बनती है. यहाँ के चमत्कार के बारे में कई कहानियां भी प्रसिद्ध हैं. प्रभात होते ही मंदिर से घंटियों की गूँज सुनाई पड़ने लगती है और बाबा के दर्शन और प्रसाद चढ़ाने का यह सिलसिला पूरे दिन और शाम तक चलता है.

    यहाँ की एक खासियत यह भी है कि जब भी आप यहाँ पहुंचेगे आपको संकीर्तन सुनने और देखने को मिल जाएगा. संकीर्तन मंडली की ताल, जब ढ़ोलक और  झाल  पर यहाँ से निकलती है और जो भी सुनता है फेकू बाबा की मंदिर की तरफ खींचे चला आता हैं.

    पूज्य फेकू बाबा के पूजने की यह परम्परा वर्षों से चली आ रही है. बाबा के पावन स्थल पर पहुंचना ही अपने आप में एक मन्नत पूरी होने के समान है.  लोग यहाँ पहुंचकर पाने आपको धन्य मानते हैं. और माने भी क्यों न, क्योंकि सबके जीने का सहारा बाबा हैं, हर मझदार का किनारा बाबा हैं.

    दुर्गा पूजा से लेकर हर छोटे-बड़े त्यौहार का आयोजन इसी पावन स्थल पर ही किया जाता है. कहते हैं कि फेकू बाबा के सजदे में यहाँ झुका हुआ सर कभी खाली नहीं जाता. बाबा ने कभी किसी को निराश नहीं किया. कभी किसी का आस नहीं तोड़ा. जो यहाँ श्रद्धा से आया, उसने सब कुछ पाया.

    यहाँ ज़िंदगी मिलती है, हर खुशी मिलती है. आसान होती है यहाँ हर मुश्किल राह, पूरी होती है यहाँ आपकी हर चाह. जो रोते हुए आता है, वो हंसता हुआ जाता है, जो बाबा का है दीवाना बता उसको क्या नहीं मिल जाता है.

    सचमुच, सब कुछ मिल जाता है बाबा के दरबार में…क्योंकि कुछ तो बात है बाबा के प्यार में.

    श्री फेकू बाबा की महिमा का गौरव गान करते हुए मैं भी अपने आपको धन्य समझ रहा हूँ और गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ कि मैं भी बाबा के ही पावन नगरी का निवासी हूँ.

    चलते-चलते मैं आप लोगों से यही कहूँगा कि फेकू बाबा के इस पावन दरबार में एक बार आप भी ज़रूर आईये. आपकी हर मन्नत पूर्ण हो जायेगी.आपके जीवन का हर संकट और हर परेशानी दूर हो जायेगी. क्योंकि बाबा जिसके साथ हैं, तो फिर चिंता की क्या बात है?

    No comments:

    Post a Comment