15 GREAT QUOTES BY MAHATMA GANDHI - Silsila Zindagi Ka
  • Welcome To My Blog

    15 GREAT QUOTES BY MAHATMA GANDHI

                                        SILSILA ZINDAGI KA


    15 BEAUTIFULL QUOTES BY MAHATMA GANDHI



    महात्मा गाँधी - यह नाम किसी के लिए अपरिचित नहीं है. ये वो नाम है जो सदियों से अमर है और युग-युगांतर तक अमर रहेगा.

    महात्मा गाँधी - जिन्होंने पूरी दुनिया को सत्य और अहिंसा का पाठ पढ़ाया और बताया कि बिना शस्त्र के भी इंसान जंग कैसे जीत सकता है?

    2अक्टूबर को हर साल भारत वर्ष में महात्मा गाँधी जयंती  बहुत श्रद्धा और स्नेह से मनाई जाती है. आज भी महात्मा गाँधी जयंती है और इस अवसर पर मैं अपने ब्लॉग सिलसिला ज़िन्दगी का के माध्यम से आप तक उनके कुछ महान विचार पहुँचा रहे हैं, जो बेहद ही अनमोल हैं.

    MAHATMA GANDHI 15 GREAT QUOTES:

    Mahatma Gandhi
    QUOTE1: हमेशा अपने विचारों, शब्दों और कर्म के पूर्ण सामंजस्य का लक्ष्य  रखें. हमेशा अपने विचारों को शुद्ध करने का लक्ष्य रखें और सब ठीक हो जाएगा. 

    Always aim to complete harmony of thought and word and deed. Always aim at purifying your thoughts and everything will be well.

    Mahatma Gandhi
    QUOTE2: अपने प्रयोजन में दृढ़ विश्वास रखने वाला एक सूक्ष्म शरीर इतिहास के रुख को बदल सकता है. 
    A small body of Determined spirits fired by an unquenchable faith in their mission can alert the course of history.

    Mahatma Gandhi
    QUOTE3: व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित प्राणी हैं, वह जो सोचता है वही बन जाता है.
    A man is but the product of this thoughts what he thinks, he becomes.

    Mahatma Gandhi
    QUOTE4: थोड़ा सा उपदेश बहुत सारे उपदेशों से बेहतर है.
    An ounce of practice is worth more than tons of preaching.

    Mahatma Gandhi
    QUOTE5: विश्वास को हमेशा तर्क से तोलना चाहिए. जब विश्वास अंधा हो जाता है तो मर जाता है.
    faith must be enforced by reason. when faith becomes blind it dies.

    Mahatma Gandhi                                                          
    QUOTE6: खुशी तब मिलेगी जब आप जो सोचते हैं, जो कहते हैं और जो करते हैं, सामंजस्य में हों. 
    Happiness is when what you think, what you say, and what you do are in harmony.

     Mahatma Gandhi                                                                                   
    QUOTE7: मौन सबसे सशक्त भाषण है. धीरे-धीरे दुनिया आपको सुनेगी.
    Silence is the strongest speech. slowly and gradully world will listen to you.

     QUOTE8: अपनी गलती को स्वीकार करना झाड़ू लगाने के समान है जो सतह को चमकदार और साफ़ कर देती है. 
    Confession of error is like a broom which sweeps away the dirt and leaves the surface brighter and cleaner.

    Mahatma Gandhi
    QUOTE9: जो भी चाहे अपनी अंतरात्मा की आवाज़ सुन सकता है. वह सबके भीतर है. 
    Everyone who wills can hear the inner voice. it is within everyone.

     Mahatma Gandhi 
    QUOTE10: मैं मरने के लिए तैयार हूँ, पर ऐसी कोई वज़ह नहीं है जिसके लिए मैं मारने के लिए तैयार हूँ. 
    I am prepared to die, but there is no cause for which i am prepared to kill.

    Mahatma Gandhi
    QUOTE11: मेरा धर्म सत्य और अहिंसा पर आधारित है. सत्य मेरा भगवान है. अहिंसा उसे पाने का साधन.
    My religion is based on truth and non-violence. Truth is my god. Non-violence is the mean of releasing him

     Mahatma Gandhi
    QUOTE12:मेरा जीवन मेरा सन्देश है. 
    My Life is my massage. 

     Mahatma Gandhi
    QUOTE13:ऐसे जियो कि तुम कल मरने वाले हो. ऐसे सीखो कि तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो.
    Leave as if you were to die tomorrow. Learn as if you were to live forever.

      Mahatma Gandhi
    QUOTE14:प्रार्थना मांगना नहीं है. यह आत्मा की शान्ति है. यह हर रोज़ अपने कमज़ोरियों की स्वीकारोक्ति है. प्रार्थना में बिना वचनों के मन लगाना, वचन मन ना लगाने से बेहतर है.
    Prayer is not asking.It is a longing of the soul. It is daily admission of one's weakness. It is better in prayer to have a heart without words than words without a heart.

     Mahatma Gandhi
    QUOTE15: आदमी अक्सर वो बन जाता है जो वो होने में यकीन करता है.अगर मैं खुद से कहूँ कि फलां चीज़ नहीं कर सकता, तो यह संभव है की मैं शायद वो सचमुच करने में असमर्थ हो जाऊं. इसके विपरीत, अगर मैं यह यकीन करूँ की मैं ये कर सकता हूँ, तो मैं निश्चित रूप से उसे करने की क्षमता पा लूंगा, भले ही शुरू में मेरे पास वो क्षमता न रही हो.
    Man often becomes what he belives himself to be. If i keep on saying to myself that i can'nt do a certain thing, It is possible that i may end by really becoming incapable of doing it. on the contrary, if i have the belief that capacity to do it even if i may not have it at the beginning.

    तो दोस्तों! ये थे महात्मा गाँधी के अनमोल QUOTES.
    फिर कल एक नए विषय के साथ आपसे मिलूंगा अपने ब्लॉग सिलसिला ज़िंदगी का के माध्यम से. 

    No comments:

    Post a Comment