• Welcome To My Blog

    Reliance: जो देता था Unlimited पैक के साथ अनजाना प्यार का एहसास

    Reliance:Relaince Story, Feeling Of Love,Unlimited pack, Unknown Love

    Reliance नंबर से Wrong नंबर डायल करता हूँ। उधर से एक लड़की की मीठी आवाज़ सुनाई देती है- Hello, कौन? मैं अपना नाम बताता हूँ और उधर से आवाज़ सुनाई देती है- आपको मेरा नंबर कहाँ से मिला? मैं बातों में उलझाने की कोशिश करता हूँ, तभी उधर से फिर आवाज़ सुनाई देती है- दोबारा कॉल मत करना इस नंबर पर।

    पर Reliance का Night Unlimited पैक सोने कहाँ देता था। फिर से उसी नंबर पर कॉल। फिर से वही आवाज़- आपने फिर क्यों किया कॉल। और मैं कहता हूँ- आपसे बात करनी थी। और इसी Wrong नंबर से शुरू हुआ था उस लड़की (फ़ातिमा) से बात करने का सीलसिला। (Reliance ने आज फ़ातिमा की भी याद दिला दी। बिहार के पूर्णिया जिले की थी। एक साल तक हम दोनों बात करते रहे। पिछले साल किसी से पता चला, फ़ातिमा कई दिनों से बीमार रहने लगी थी और वो ज़िन्दगी की जंग हार गई और 2016 में उसने दुनिया को अलविदा कह दिया। बहुत दुख हुआ था।)

    ख़ैर, अनदेखा, अनजाना प्यार था। जाने कौन-कौन सी बातें? कहाँ-कहाँ की बातें। तब रात ज़ल्दी गुज़र जाती थी और Reliance का अनलिमिटेड पैक ख़त्म हो जाता था, लेकिन बातें अधूरी रह जाती थी। फिर से अगली रात का इंतजार। दोस्तों! जो मैं लिख रहा हूँ यह Reliance की कहानी है। जो मेरे और आपके ज़िन्दगी का कभी हिस्सा हुआ करता था।
    दोस्तों! कहते हैं कि यादें कभी भी इंसान का पीछा नहीं छोड़तीं। वो हमेशा हमारे साथ ही चलती हैं। 
    मान लीजिए आपके घर के किसी कोने में वर्षों पुराना कोई सामान मिल जाता है, जिसके साथ आपकी कई यादें जुड़ीं हों। तो यह सच है न कि हमारे चेहरे पर खुद-ब-खुद मुस्कुराहट की कई लकीरें उभर आती हैं और हम खो जाते हैं बीती यादों में।
    आज कुछ मेरे साथ ऐसा ही हुआ। कुछ ढूंढ़ रहा था।।काफी देर से। घर में इधर से उधर। जो ढूंढ़ रहा था वो तो नहीं मिला, लेकिन एक वर्षों पुरानी फाइल में तन्हा पड़ा मिला Reliance का सिम। इस Reliance के सिम को देखते ही मेरे चेहरे पर खुशियाँ दौड़ गईं। यह मेरा पहला नंबर था, जिसके साथ ना जाने मेरी यादों के कितने अफ़साने जुड़े हुए हैं।
    मुझे याद है 2009 में मैने Reliance का एक मोबाइल लिया था। 800 रुपये का सिम के साथ। एक बार Reliance use करने का जो मेरा सीलसिला ज़ारी हुआ, मानो उसकी लत ही लाग गई। वर्षों तक मैं किसी दूसरी कंपनी का नंबर इस्तेमाल नहीं किया। और Reliance में भी मुझे Relaince में भी मुझे Reliance CDMA पसंद था। 
    बिहार से मुम्बई आने के बाद भी जो मैंने नंबर लिया वो Reliance का ही था, जो आ जा तक चल रहा है। 
    मुझे बहुत दुख हुआ था जब कुछ वर्षों पहले Reliance बंद हो रहा था। बहुत मायूस हो कर मैंने भी अपना Reliance CDMA का नम्बर दूसरी कंपनी में पोर्ट कराया था। पता है क्यों? क्योंकि जो आपके साथ हुआ था मेरे साथ भी हुआ था।
    तब मैं पटना में था। Relaince काम पैसे में ज़्यादा बात करने का पैक देता था और रात 11 बजे से 6 बजे तक Relaince to Relaince फ्री अनलिमिटेड बातें और इसी Reliance का फ्री वाला अनलिमिटेड ऑफर जाने कई दिलों के तार को कई दिनों से जोड़ रखा था। लेकिन देखते-देखते अब Reliance भी इंसान की तरह बूढ़ा हो गया और जाने कहाँ चला गया?

    कहाँ गया वो Reliance का ज़माना? 
    सोच रहा हूँ कहाँ गया वो Reliance का ज़माना? क्योंकि 
    वो Reliance ही था जिसकी वज़ह से बड़ी रातें भी छोटी लगती थीं।
    वो Reliance ही था जो wrong नंबर लगाना सिखाया था और सामने वाले को इधर-उधर की बातों में उलझाना सिखाया था।
    वो Reliance ही था जो फ़ासले की दीवारों को गिराना सिखाया था।
    वो Reliance ही था जिसने दोस्ती के तार को जोड़ना सिखाया था।
    वो Reliance ही था जो पढ़ाई डिस्टर्ब करता था लेकिन पढ़ना भी सिखाया था।
    वो Reliance ही था जो  wrong नंबर से ही अनजाना और अनदेखा प्यार करना सिखाया था।
    वो Reliance ही था जिसने अपने Hello Tune से हमें दीवाना बनाया था। 
    वो Reliance ही था जो हर कदम, हर सफ़र में, हर पल हमारे साथ रहता था। 
    और ना जाने क्या-क्या दिया था Reliance ने। बहुत कुछ। बहुत यादें जुड़ीं हैं इसके साथ और हमेशा जुड़ीं रहेंगी।
    ना तो अब हमारा वो दौर आयेगा और ना ही शायद Reliance का। क्योंकि "जो बीत गया फिर से वो दौर ना आएगा"। लेकिन Reliance की यादें हमेशा हमारे साथ रहेंगीं।

    Reliance
    दोस्तों! ये थीं Reliance की कहानी। लिखते-लिखते मस्तिष्क के मानस पटल पर जानें कितनी यादें तैर गईं। ख़ैर, Reliance के इन्हीं यादों के साथ आपसे विदा लेता हूँ।।मिलता हूँ फिर से एक नए विषय के साथ। Bye-Bye.

    No comments:

    Post a Comment

    Featured Post

    आइंस्टाइन के सिद्धांत को चुनौती देने वाले बिहार के महान गणितज्ञ

    आइंस्टाइन के सिद्धांत को चुनौती देने वाले बिहार के महान गणितज्ञ  डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह कभी उन्हें चेहरे पर मुस्कुराहट लिए तो कभी आ...