• Welcome To My Blog

    Heart Touching Poem: एक गुत्थी है ये ज़िन्दगी

    Heart Touching Poem: एक गुत्थी है ये ज़िन्दगी



    Silsila Zindagi Ka
    Nutan Phariya

    ज़िन्दगी की हक़ीक़त को बयां करती "नूतन फारिया" की एक Heart Touching Poem: एक गुत्थी है ये ज़िन्दगी आपके दिल को छू जाएगी। एक बार ज़रूर पढ़िए।
    Written By - Nutan Phariya

    Silsila Zindagi ka, Poem

    Heart Touching Poem: एक गुत्थी है ये ज़िन्दगी


    एक गुत्थी है ये ज़िन्दगी.....

    लाख सुलझाऊँ पर सुलझती ही नही।

    रास्ता रोके खड़ा है हर मोड़ पर तूफान यहाँ,
    जाऊं तो किधर हर शख़्स है अंजान यहाँ...

    डरती हूँ कही... न गिर जाऊं 
    या तूफानों से घिर जाऊं।
    दिखता है हर ओर अंधेरा,
    रौशनी कहीं दिखती ही नहीं।

    उलझ रही है परत दर परत ज़िन्दगी...
    लाख सुलझाऊँ पर सुलझती ही नहीं।

           

    No comments:

    Post a Comment

    Featured Post

    Rajgir- चलो, चलते हैं राजगीर

    Rajgir- चलो, चलते हैं राजगीर Rajgir- " Silsila Zindagi Ka " के साथ चलिए Rajgir का भ्रमण कीजिये. आप सोच  रहे होंगे कि  ऐसा क्...