धारावाहिक "अग्निफेरा" के सेट से निर्देशक "सुमित सागर" - Silsila Zindagi Ka
  • Welcome To My Blog

    धारावाहिक "अग्निफेरा" के सेट से निर्देशक "सुमित सागर"


    आज मैं अपने ब्लॉग के ज़रिए आपको मैं एक ऐसे व्यक्तित्व से परिचय कराने जा रहा हूँ, जो छोटे शहर से बिलांग करते हैं। लेकिन आज मुम्बई यानि सपनों के शहर में दिन-प्रतिदिन क़ामयाबी की सीढ़ियां चढ़ते जा रहे हैं। जी हाँ, ये इंसान हैं "सुमित सागर" जो फ़िल्म इंडस्ट्री में बतौर निर्देशक काम करते हैं और आजकल "&TV" पर प्रसारित हो रहे धारावाहिक "अग्निफेरा" के निर्देशन में व्यस्त हैं। इसी दौरान उन्होंने इस सीरियल के सेट से कुछ ख़ुबसूरत तस्वीरें भी हम से शेयर किया है, जिसे आप देख सकते हैं। 





    बातचीत के दौरान "निर्देशक सुमित सागर" ने बताया कि जब मैं जमशेदपुर से मुम्बई आया था तो शुरुवाती दौर मेरे लिए काफी मुश्किल भरा था। कुछ समझ नहीं आ रहा था कि कहाँ जाऊँ? क्या करूँ? लेकिन कहते हैं कि "जहाँ चाह, वहाँ राह"। मैंने ठान लिया था कि चाहे कुछ भी हो जाये, पर फ़िल्म इंडस्ट्री में मुझे जगह बनानी है। और मैं प्रतिदिन एक नई ऊर्जा के साथ मेहनत करने लगा। भागदौड़ करने लगा। किसी भी परिस्थिति में मैंने अपने हौसले को कम नहीं होने दिया और एक दिन ऐसा भी आया जब मुझे इंडस्ट्री में रास्ते मिलने शुरू हो गए। फिर मैंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और मेरे उसी सकारात्मक सोच और लगन का परिणाम है कि आज मैं "AS A DIRECTOR" कई बड़े PRODUCTION HOUSES और CHANNELS के लिए काम कर चुका हूँ।



    मैं आपको बता दूँ कि सुमित सागर " साथ निभाना साथिया (STAR PLUS)", "ससुराल सिमर का (COLORS)",  "कैसा ये इश्क़ है...अज़ब का रिश्क़ है (LIFE OK)" जैसे बड़े SERIALS का निर्देशन कर चुके हैं। इसके अलावा वो "DANCE JOURNEY OF INDIA" और "FOLK DANCE OF INDIA" शो के प्रोड्यूसर भी रह चुके हैं। इन दोनों  शो का निर्माण इनके ख़ुद के प्रोडक्शन HOUSE "LITTLE ANGEL ENTERTAINMENT" के तहत किया गया था। क़रीब 10 से ऊपर ये शॉर्ट फिल्में भी बना चुके हैं  और इनमें से कई फिल्मों को "FILM FSETIVALS" में भी सराहा गया है। 


    साथ ही साथ मैं आपको बताता चलूँ कि "सुमित सागर" एक अच्छे निर्देशक के साथ-साथ बेहद अच्छे इंसान भी हैं। 

    मैं दिल से इन्हें शुभकामनाएं देता हूँ कि इसी तरह दिन-प्रतिदिन इनको तरक्की मिलती रहे और इसी तरह इनका "सिलसिला ज़िन्दगी का" हमेशा आगे बढ़ता रहे।

    No comments:

    Post a Comment