• Welcome To My Blog

    छोटे नहीं, हमेशा बड़े सपने देखो


    दोस्तों! किसी ने कहा है कि "इंसान तो उसी दिन मर जाता है, जिस दिन वो छोटे सपने देखता है"।
    यकीन मानिए, जिसने भी यह कहा है- बहुत सोच-समझकर और सटीक कहा है। क्योंकि छोटे सपने तो अपनी तरह ही बड़े इंसान को भी छोटे बना देते हैं।



    यह जीवन हमें एक बार मिलता है। तो हमें ऐसा सोचना चाहिए कि क्यों न हम बड़े सपने देखें। रोज़ देखें। बार-बार देखें। हज़ार बार देखें।
    लेकिन यह भी ध्यान रहे- जब भी आप सपनें देखें, खुली आँखों से देखे। बन्द आँखों से देखे गए सपने, सिर्फ सपने बनकर ही रह जाते हैं।

    आप अपने सपनों को पूरा करना चाहते हैं, लेकिन कैसे?...........

    1. खुली आँखों से देखें सपने
    एपीजे अब्दुल कलाम ने सपनों के बारे में कहा था- "सपने वो नहीं जो हमें सोते हुए दिखाई दें, सपने तो वो हैं जो हमने सोने न दें।" वाक़ई, जब कोई इंसान कुछ बड़ा करने के सपने या फिर कुछ बड़ा पाने की चाहत अपने दिल में पैदा कर लेता है तो उसके सपने तो जागते  हुए ही उसे दिखाई देते हैं और फिर उसके सपने पूरे करने से उसे कौन रोक सकता है। 

    2.रोज़ अपने सपने को लिखें
    जो सपने आप देख रहे हैं या जिस सपने को आप पूरा करना चाह रहे हैं, आप उसे रोज़ अपनी डायरी में रात को सोने से पहले और सुबह जगते ही लिखें। अपने आँखों कर साथ-साथ अपनी डायरी में भी उन सपनों को कैद करें। उन्हें हर रोज़ याद करें। फिर एक दिन ऐसा भी आएगा जब तुम्हारे देखे हुए सपने ज़रूर पूरे हो जाएंगे। 

    3. मेरे सपने, मेरे अपने
    हर रोज़ यह सोचे कि जो देखा है मैंने सपने, वो हैं मेरे अपने। उनसे और गहरा रिश्ता जोड़ें। हाँ, यह जरूर है कि इतनी आसानी से वे सपने आपके अपने नहीं हो पाएंगे। लेकिन इतना ज़रूर है कि मुश्किल भी नहीं कि आपके सपने, आपके अपने ना हों।

    4. ज़िन्दगी बदलें, सपने नहीं
    मैने अक्सर ऐसे कई लोगों को देखा है, जो असफलता से या अपने सपने पूरे ना होने पर ज़िन्दगी में तो बदलाव लाते ही हैं, साथ ही साथ अपने सपने यानि अपने लक्ष्य को भी बदल देते हैं। शायद उन्हें नहीं पता कि पुराने सपने से रिश्ता तोड़कर नए सपने देखने की शुरुआत करना, फिर से आपको अर्श से फर्श पर लाकर खड़ा कर देता है। इसलिए कभी भी अपनी ज़िन्दगी में बदलाव लाने की कोशिश करें। अपने सपने नहीं बदलें। 

    तो दोस्तों!! आप अपने सपने को ज़िन्दा रखिये। आज नहीं तो कल आपका सपना अपना जा उसे पूरा करने की कोशिश कीजिये। 
    और हाँ "छोटे नहीं, हमेशा बड़े सपने देखो"।

    No comments:

    Post a Comment

    Featured Post

    Journey From Finite To Infinite/एक नए सफ़र की ओर

    Journey From Finite To Infinite जब भी कभी मैं अपने बड़े भाई के बारे में सोचता हूँ, मुझे गर्व होता है। जब भी कभी मैं अपने भाभी (खुशी सिंह)...