• Welcome To My Blog

    सबका हर्षित है मन, श्री कृष्ण का हुआ आगमन

    (मेरे blog की तरफ से आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं)


     आज हर तरफ धूमधाम है। हर दिल में एक नई उमंग है
     हर चेहरे पर खुशी है। सड़कों, चौबारों और गलियों में, रंग-बिरंगे कपड़े पहने लोगों का हुजूम देखते ही बन रहा है। लड़कियाँ गोपियाँ बनीं तो लड़के कृष्ण के भेष धारण किये अति मनमोहक लग रहे हैं। ढ़ोल-नगाड़ों की धुन पर नाचते और झूमते लोगों को देखकरआग रहा है कि धरती पर स्वर्ग उतर आया है।
    और ऐसा ही भी क्यों न? आज श्री कृष्ण जन्माष्टमी है। भगवान के दस अवतारों में से एक ऐसा अवतार है यह जो सबसे अलग और अनोखा है। धार्मिक मान्यता के अनुसार भगवान श्री कृष्ण का जन्म रात को 12 बजे हुआ था। उस समय घनघोर बारिश हो रही थी और बिजलियाँ चमक रही थी। कंस के अत्याचार से पूरा मथुरा त्रस्त था। तब भगवान श्री कृष्ण के आदेश से ही वासुदेव जी रातों-रात यमुना पार कर के बालक कृष्ण को गोकुल में पहुंचाए थे।

    तभी से श्री कृष्ण जन्माष्टमी मनाने की परंपरा चली आ रही है और यह परम्परा कालान्तर तक चलती रहेगी।
    मैं प्रार्थना करूँगा भगवान श्री कृष्ण से कि सबका जीवन इसी तरह रोशन रहे। सभी इसी तरह हँसते-मुस्कुराते रहे और सबकी "ज़िन्दगी का सिलसिला" यूँ ही चलता रहे। "जय श्री कृष्ण"।
    ONCE AGAIN, HAPPY SHRI KRISHNA JANMASHTMI

    No comments:

    Post a Comment

    Featured Post

    Journey From Finite To Infinite/एक नए सफ़र की ओर

    Journey From Finite To Infinite जब भी कभी मैं अपने बड़े भाई के बारे में सोचता हूँ, मुझे गर्व होता है। जब भी कभी मैं अपने भाभी (खुशी सिंह)...