पटना का प्यार - Silsila Zindagi Ka
  • Welcome To My Blog

    पटना का प्यार

    LOVE OF PATNA


    मैं पटना का प्यार नहीं भूल पाता हूँ।
    पटना ने मुझे मुझे बहुत प्यार दिया है
    मेरी वास्तविक ज़िन्दगी की शुरुवात
    इसी शहर से हुई थी।

    आज मैं काफी समय बाद जैसे ही
    पटना पहुँचा।
    खुशी से झूम उठा।
    बहुत सारी बीती बातें याद आ गईं।
    मेरा कॉलेज
    वो गल्ली जिसमें मेरा कमरा था।
    और हाँ, वो भी याद आ गई
    मेरी मोहब्बत!
    जिसे पटना ने दिया था।

    मोहब्बत की याद आते ही 
    मैं थोड़ा उदास हो गया।
    क्योंकि सब कुछ तो है यहाँ वैसे ही
    लेकिन मेरी मोहब्बत अब इस शहर
    में नहीं है।

    यानि "पटना का प्यार"
    अब पटना में  नहीं है।

    No comments:

    Post a Comment