The Best Whatsapp Status - Silsila Zindagi Ka
  • Welcome To My Blog

    The Best Whatsapp Status


                                 SILSILA ZINDAGI KA 

    The Best Whatsapp Status 



    मेरे शब्दों को ध्यान से मत पढ़ना यारों!
    अगर मेरा एक शब्द भी दिल में उतर गया तो मुझे भूल नहीं पाओगे.
    Mere shabdo ko dhyan se mat padhna yaron!
    Agar Mera ek shabd bhi dil me utar gaya to mujhe bhul nahi paaoge.


    हैं दफन मुझ में  कितनी रौनकें मत पूछ 
    हर बार उजड़ कर बसता रहा वो शहर हूँ मैं.
    Hain Dafan mujh me kitni raunke mat puchh
    Har baar ujad ke Basta raha wp Shehar hoon main.

    जिनकी ख़्वाहिशें बड़ी होती हैं 
    उनके सामने ही मुश्किलें खड़ी होती हैं.
    jinki khwahishe badi hoti hain
    unke saamne hi mushkilen khadi hoti hain.

    हम उनका ग़म नहीं करते जो हमें नहीं मिले 
    बल्कि वो हमारे लिए ग़म करते हैं जिनको हम ना मिलें.
    Ham unka Gham nahi karte jo hame nahi mile
    Balki woh hamare liye gham karte hain.

    खोता वही है, जिसे हम पाना चाहते हैं 
    हमसे दूर वही जाता है जिसके क़रीब हम जाना चाहते हैं.
    Khota wohi hai jisse ham pana chaahte hain 
    Hamse dur wohi jata hai jiske qarib ham jana chahte hain.

    एक समस्या है मेरी जो सबके लिए समस्या है
    मैं हर हाल में मुस्कुराता हूँ और लोग इसे देख नहीं पाते.
    Ek samasya hai meri jo sabke liye samasya hai 
    Mai har haal me muskurata hun aur log isse dekh nahi paate.

    इस शहर में मेरा एक वफादार दोस्त रहता था 
    उसको भी मोहब्बत ने मार डाला.
    Iss shehar me mera ek wafadaar dost rehta tha
    Usko bhi mohabbat ne maar daala.

    वो रो-रो कर कह रही थी मुझे नफ़रत है तुमसे
    मगर आज भी सोचता हूँ कि उसे नफ़रत ही था मुझ से तो वो रोई क्यों?
    Wo ro-ro kar kah rahi thi mujhe nafrat hai tumse 
    Magar aaj bhi sochta hoon ki usse nafrat hi tha mujh se to woh roi kyun?


    कभी किसी के चेहरे की मासूमियत पर मत जाना यारों!
    क्योंकि एक चेहरे के पीछे हज़ारों चेहरे छुपे होते हैं.
    Kabhi kisi ke chehare ki maasumiyat par mat jana yaron!
    Kyonki ek chehare ke pichhe hazaron chehare chhupe hote hain 

    क्या ज़माना है यारों! 
    लोग दिलों में नफ़रतें ले कर कितनी सादगी से मिलते हैं.
    Kya zamana hai yaron!
    log dilon mein nafrate le kar kitani saadgi se milte hain.

    लौट आओ कि अब ज़िंदगी बिखरने लगी है 
    मोहब्बत ज़हर बन कर दिल में उतरने लगी है. 
    Laut aao ki ab zindagi bikhrne lagi hai
    Mohabbat zehar ban kar dil me utarne lagi hai.

    जब चाहे, जहां मुझे शौक़ से आज़मा लेना 
    मैं तुम्हारे हर इम्तिहान में पास हो जाऊंगा.
    Jab chaahe, jahan mujhe shaq se aazma lena
    Main tumhare har imtihan me paas ho jaaunga.



    No comments:

    Post a Comment