आसान नहीं है धोनी बनना - Silsila Zindagi Ka
  • Welcome To My Blog

    आसान नहीं है धोनी बनना

    2004 का दौर था। जब भारतीय टीम को एक अच्छे विकेटकीपर और मिडिल ऑर्डर के उम्दा बैट्समैन की तलाश थी। तब रांची की धरती से एक मध्यम परिवार से बिलांग करने वाला लड़के का भारतीय टीम में पदार्पण हुआ। 


    अपने पहले मैच में ही बिना खाता खोले आऊट होने वाले इस खिलाड़ी के बारे में किसी ने सोचा भी नहीं था कि एक दिन यह खिलाड़ी भारतीय टीम का नेतृत्व करेगा और कोहिनूर बन जायेगा।

    तक़दीर धोनी के पीछे भगती है
    कुछ लोग अपनी तमाम उम्र अच्छी तक़दीर और अच्छा समय आने इंतज़ार में गुज़ार देते हैं और कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके पीछे तक़दीर भागती है। उसी में से एक हैं, महेंद्र सिंह धोनी। तक़दीर भी शायद धोनी के पास आकर गौरवान्वित महसूस करती है।

    मिट्टी को छुवा तो सोना बन गया
    कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो सोने को छूते हैं तो मिट्टी बन जाता है और कुछ ऐसे भी हैं जो मिट्टी को छूते हैं तो सोना बन जाता है। उन्हीं में से एक हैं माही। जब भी उन्होंने जो भी फ़ैसला लिया वो सही साबित हुआ। चाहे ज़िन्दगी का मैदान हो या फिर क्रिकेट ग्राऊंड। हर जगह धोनी की तक़दीर ने उनका साथ दिया।

    मैजिक हो तो माही मैजिक
    दुनिया में अगर आपको वास्तविक मैजिक से रु-ब-रु होना है तो आप माही मैजिक को गौर से देख सकते हैं। क्योंकि माही मैजिक एक ऐसा मैजिक है जिसका अभी तक कोई मुक़ाबला नहीं। माही मैजिक एक ऐसा मैजिक है जिसे दुनिया सलाम करती रही है और आने वाले दिनों में भी इस माही मैजिक को हमेशा याद किया जाएगा।

    वक़्त से आगे चलते हैं धोनी
    यह आपको भी बखूबी पता होगा कि महेंद्र सिंह धोनी वक़्त से आगे चलते हैं। उनकी हर सोच इतनी उम्दा होती है कि उनका हर फैसला हमेशा सही साबित होता है। ज़िन्दगी के सफ़र हो या सड़क का सफ़र, धोनी हर सफ़र में वक़्त से आगे चलते हैं। 

    शुमार हैं धनवान व्यक्तियों में
    जब भी भारत के रिच पर्सन की बात आती है। धोनी उसमें भी शामिल दिखाई देते हैं। धोनी क्रिकेट के अलावा कई तरह के विज्ञापन भी करते हैं। इस तरह धोनी की हर मिनट की कमाई हज़ार से ऊपर है। अभी हाल में ही उनकी बायोग्रॉफी के ऊपर बनी फिल्म "धोनी- दी अनटोल्ड स्टोरी" को भी लोगों ने ख़ूब पसंद किया था

    धोनी के पास हैं कई गाड़ियां
    आज धोनी के पास एक से बढ़कर एक बंगले हैं , वही उनके पास कर और बाइक्स की भरमार है। आपको पता होगा कि धोनी बाइक्स के बहुत दीवाने हैं। इस वज़ह से उनको जो भी बाइक पसंद आ जाती है, उसे लिए बिना नहीं रहते।

    आसान नहीं है धोनी बनना
    रेलवे से शुरू हुआ माही का सफ़र एक दिन क्रिकेट ग्राउंड तक पहुंच गया और एक दिन ऐसा भी आया कि धोनी नाम ब्रांड बन गया। आज ख़ुद पीछे मुड़कर माही देखते होंगे तो उन्हें शायद यकीं नहीं होता होगा। वैसे जो भी हो, यह बात सच है "आसान नहीं है धोनी बनना".

    No comments:

    Post a Comment