• Welcome To My Blog

    चलो मुस्कुराने का बहाना ढूंढ़ते हैं

    दोस्तों! कहते हैं कि आप अपना उदास चेहरा ले कर किसी मुस्कुराते हुए इंसान के सामने आ जाएंगे, तो वो भी उदास हो जाएगा और किसी उदास इंसान के सामने भी आप मुस्कुराते हुए खड़े हो जाएंगे, तो वो उदास और निराश भी न चाहते हुए एक बार जरूर मुस्कुरा देगा।



    मुस्कुराहट एक ऐसी दवा है जो बड़ी से बड़ी बीमारी को भी ख़त्म कर देती है। मुस्कुराहट ऐसा यंत्र है जो दुश्मनी को भी दोस्ती में बदल देती है। इसलिए हर हाल में मुस्कुराना सीखो। आपके चेहरे पर मुस्कान कैसे आएगी, आप ग़मों के दौर में भी कैसे मुस्कुरायेंगे? इसका ज़वाब है।

    1. हर परिस्थिति का डंटकर सामना करें- 
    चाहे कोई भी परिस्थिति भी हो आपके साथ, उसका डंटकर सामना करें। उससे लड़िये और मुस्कुराते हुए उसका मुक़ाबला कीजिये। बुरी परिस्थिति भी जब आपको मुस्कुराकर जंग लड़ते हुए देखेगी, तो वो खुद-ब-खुद कह देगी- इस इंसान को हराना मुश्किल है। इसलिए चलो यहाँ से।

    2. असफलता के बाद भी कहिये मैं कामयाब हूँ-
    दोस्तों! आपको पता ही होगा कि हर रोज़ इंसान को हारना और जीतना पड़ता है। किसी रोज़ जीत मिलती है तो इंसान खुश हो जाता है और वो किसी रोज़ हार जाता है तो उदास। जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। हार जाने के बाद भी आप मुस्कुराइये और यह सोचिये कि ज़िन्दगी में जीत से ज़्यादा हार का होना ज़रूरी है। क्योंकि असफलता इंसान को बहुत कुछ सिखाती है। इसलिए मुस्कुराते हुए उस नाकामयाबी का भी आनंद लीजिये।

    3.हर पल का मज़ा लीजिये- 
    आपके चेहरे पर मुस्कान लाने का यह सबसे बड़ा मार्ग है। हर पल का मज़ा लीजिये। जिस दिन आपने हर पल को एन्जॉय कर सिख लिया, उस दिन आपकी ज़िन्दगी में ग़म का कोई नामोनिशान नहीं रह जायेगा।

    4. ज़िन्दगी एक बार मिलती है-
    आप रोज सोचिये यह बात की ज़िन्दगी एक बार मिलती है और मुझे इस ज़िन्दगी को बेहतर ढंग से जीना है। फिर देखिए, आप मुस्कुराना सीख जाएंगे। क्योंकि जब आप ऐसा सोच लेंगे, तब आपको ज़िन्दगी का मतलब पता चल जाएगा और फिर यह ज़िन्दगी आपको मुस्कुराहट का मूल्य बता देगी

    5. चलो मुस्कुराने का बहाना ढूंढ़ते हैं-
    जब भी आप सुबह सो कर उठिए, पहले मुस्कुराइये औए फिर धीरे से कहिये- ज़िन्दगी, चलो मुस्कुराने का बहाना ढूंढ़ते हैं। और फिर बेवज़ह मुस्कुराइये। देखिए आपकी यह मुस्कुराहट ही आपके जीवन को बदल देगी।

    दोस्तों! आपकी नज़र में मुस्कुराहट का क्या मूल्य है? क्या आप भी बेवज़ह मुस्कुराने का बहाना ढूंढते हैं? अगर हाँ तो कैसे? 
    कैसे आप रोज बेवज़ह मुस्कुराते हैं? बताईये।

    1 comment:

    Featured Post

    Journey From Finite To Infinite/एक नए सफ़र की ओर

    Journey From Finite To Infinite जब भी कभी मैं अपने बड़े भाई के बारे में सोचता हूँ, मुझे गर्व होता है। जब भी कभी मैं अपने भाभी (खुशी सिंह)...