सितारों की तरह आसमाँ में जगमगाते रहेंगे - Silsila Zindagi Ka
  • Welcome To My Blog

    सितारों की तरह आसमाँ में जगमगाते रहेंगे

    सितारों  की तरह  आसमाँ में जगमगाते रहेंगे
    ख़ुशी हो  या ग़म का  मौसम  मुस्कुराते  रहेंगे



    हमारी  हस्ती  ऐसी है  जो  मिट  नहीं सकती
    मौत  को भी  जीने  का अंदाज़ सिखाते रहेंगे

    हम चल पड़ते हैं जिधर  चल पड़ता है कारवाँ
    हम  तूफाँ  में भी  रोज़  आशियाँ  बनाते  रहेंगे

    हमारा  वज़ूद, हमारी  पहचान  सब  से जुदा है
    हम  आँधियों  में  भी रोज़  दीये   जलाते  रहेंगे

    हम अपने रास्ते, अपनी मंज़िल ख़ुद तै करते हैं
    ऐ  वक़्त! तुझे  हम  भी  रोज़  आज़माते  रहेंगे

    हम  प्यार  के यार  हैं और  नफ़रत  के दुश्मन
    हम   नग़मे    वफ़ा  का  हर  पल  गाते   रहेंगे

    ये ज़िन्दगी जो मिली है इसे जियेंगे जी भर कर
    रोज़   सपनों   की   दुनिया   हम  सजाते   रहेंगे

    जो हाथ भी मिलाएगा उसे हम गले लगाते रहेंगे
    सितारों  की  तरह  आसमाँ  में  जगमगाते रहेंगे