• Welcome To My Blog

    बिहार के वीरों की याद में शौर्य सम्मान

    SILSILA ZINDAGI KA

    SHAURYA SAMMAN


    बिहार कर्म और धर्म की भूमि है। ज्ञान और विज्ञान की भूमि है। यही वो भूमि है जहाँ से आर्यभट्ट जैसा महान गणितज्ञ ने दुनिया का शून्य का मतलब समझाया। यही वो भूमि है, जहाँ के राजेन्द्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति बने।


    आज पटना S. K. MEMORIAL HALL में बिहार के उन सूर वीरों की याद में "शौर्य-सम्मान" का आयोजन किया गया। उनके उस बलिदान को याद किया गया, जो बिहार के लिए कुछ किया है। इस अवसर पर विनय आनंद ने देशभक्ति गाने पर परफॉर्मेंस कर के सब का दिल जीत लिया। 



    S.K.MEMORIAL हॉल में खचाखच भीड़ के बीच ज़ोरदार तालियाँ बज रही थी और लोग जय भारत, जय बिहार के नारे लगा रहे थे।
    इस अवसर पर कई तरह के कार्यक्रम पेश किए। बिहार के गाने से शुरू हुआ इस "शौर्य सम्मान" कार्यक्रम ने लोगों को दीवाना बना दिया।
    सलाम है उन शूरवीरों का जिन्होंने बिहार के लिए अपना सब कुछ समर्पण कर दिया।

    2 comments:

    Featured Post

    Journey From Finite To Infinite/एक नए सफ़र की ओर

    Journey From Finite To Infinite जब भी कभी मैं अपने बड़े भाई के बारे में सोचता हूँ, मुझे गर्व होता है। जब भी कभी मैं अपने भाभी (खुशी सिंह)...