• Welcome To My Blog

    Love- प्यार करने वालों, अगर दिल मज़बूत हो तभी इसे पढ़ना

    Love की बीमारी
    (यह घटना मेरे एक दोस्त के साथ घटी थी। उसे ही अपने शब्दों में बयाँ कर रहा हूँ। आप अपने ऊपर ना लेना। क्योंकि ये आपके ऊपर भी लागू हो सकता है। लेकिन, सच तो सच है और आज कल यही हो रहा है।)

    ये भी पढ़ें: मास्टर साहब

    बेचारा आशिक़ हो गए थे, दीवाने हो गए थे, पागल हो गए थे हम..एक लड़की के चक्कर में। उसके पीछे लगे रहते थे। जबकि हमको पता था कि लाल दुपट्टे और कटे फ़टे जीन्स वाली के हमारे अलावा और भी 4 boyfriend थे। फिर भी दीवाना थे हम कुत्ता काट रखा था हमको Love का। Whatsapp पे जब तक वो offline नहीं हो जाती थी, तब तक झांकता रहता था बार-बार। 

    हम उसका mobile recharge कराने वाले boyfriend थे। उसका भी कराते थे, उसकी माँ का भी। क्या करते, Love के जाल में फंस गए थे और वो हमको डंस रही थी।
    एक दिन चौबारे पर शाम को देखा एक लड़के के साथ bike पर जा रही है। उसने हमको देखा और मुस्कुराई। पर हम तो कांप गए। जीरो डिग्री वाले टेम्प्रेचर वाले ठंड से भी ज़्यादा कांप गए। मन तो कर रहा था, मार लूँ। खुद को। पर क्या करें प्यार करते थे।
    उसकी वज़ह से मैट्रिक में फेल हो गए। इंटर का एक्जाम नहीं दे पाए। और बीए हमसे बाय बाय कह दिया। इधर प्यार के एमए में भी फेल होते जा रहे थे।
    एक दिन मैंने उससे पूछा, सच बताओ तुम हमसे Love करती हो या नहीं!? whatsapp का मैसेज देखा उसने पर कोई रिप्लाई नहीं आया और अगले दिन से 3-4 रोज़ मोबाइल ऑफ।
    पांचवें दिन एक whatsapp मैसेज आया, जिसमें उसकी शादी का कार्ड था और मुझे भी बुलावा आया था। और कार्ड के नीचे उसका मैसेज था मेरी मम्मी के मोबाइल का रिचार्ज खत्म हो गया है। unlimited calling वाला पैक करा दो।
    ढूंढ़ने लगा कौन से कार्ड में पैसा बचा है। रिचार्ज करा दिया। लेकिन दिल का बैलेंस अब खत्म हो चुका था।  मेरे मन का talktime मुझे धिक्कार रहा था और मोहब्बत का SMS पैक हंस रहा था। उस दिन MOBILE ही पटक दिया। उसका डोली उठने के बाद एक नया मोबाइल लिया हूँ। फिर से एक नया Love चक्कर शुरू हुआ है। इस बार घुमाने वाला BOYFRIEND बना हूं। देखता हूँ क्या होता है?

    No comments:

    Post a Comment

    Featured Post

    आइंस्टाइन के सिद्धांत को चुनौती देने वाले बिहार के महान गणितज्ञ

    आइंस्टाइन के सिद्धांत को चुनौती देने वाले बिहार के महान गणितज्ञ  डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह कभी उन्हें चेहरे पर मुस्कुराहट लिए तो कभी आ...